मां काली की पूजा में न करें ये गलती….

1-16

दुष्‍टों का संहार करने वाली मां काली की आराधना से जीवन के सारे कष्‍टों से मुक्‍ति मिलती है। मां काली को दस महाविद्याओं का ज्ञान है। तंत्र साधना के लिए मां काली की विशेष उपासना की जाती है।

बरकत के लिए यहां रखें अपनी तिजोरी

एक मंत्र है सर्वशक्‍तिशाली

मां काली का ‘ओम ऐं ह्रीं क्लीं चामुण्डायै विच्चै’ मंत्र अत्‍यंत शक्‍तिशाली माना जाता है। इसका प्रत्‍येक अक्षर ग्रहों को नियंत्रित करने की क्षमता रखता है। विश्‍वास है कि रोज़ इस मंत्र का जाप करने से मां काली अपने भक्‍तों के कष्‍टों को दूर करती हैं।

2-14

मां काली की पूजा का महत्‍व

मां काली की पूजा से मन के भय का अंत होता है। भक्‍तों को रोग से मुक्‍ति मिलती है। मां काली की पूजा से राहु और केतु शांत होते हैं। मां काली की कृपा से शत्रुओं का नाश होता है।

ऐसे लोगों पर करेंगें भरोसा तो मिलेगा कष्‍ट

तंत्र-मंत्र का नाश

यदि किसी पर तंत्र साधना का प्रयोग किया गया है तो मां काली की उपासना उसके असर को नष्‍ट करती है।

 

कैसा रहेगा ऋतिक की मोहन जोदड़ो का रिस्‍पॉन्‍स : ज्‍योतिषीय आंकलन

hritik

बॉलीवुड के दमदार अभिनेता के रूप में प्रसिद्ध ऋतिक रोशन के जीवन में पिछले दिनों कई उतार-चढ़ाव आए। बात उनके निजी जीवन की हो या करियर की हर जगह ऋतिक को परेशानियों का सामना करना पड़ा।  तो आइए एक नज़र डालते हैं ऋतिक की अपकमिंग फिल्‍म मोहन जोदड़ो के भविष्‍य आंकलन पर -:

क्‍या आप भी ताल्‍लुक रखते हैं राक्षस गण से ?

बॉलीवुड के सुपरस्‍टार ऋतिक रोशन का जन्‍म 10 जनवरी 1974 को हुआ जिसके अनुसार उनकी जन्‍म कुंडली इस प्रकार है -:

ऋतिक का जन्‍म मंगल के उच्‍च चिह्न और बृहस्पति के दुर्बल चिह्न के अंतर्गत हुआ है। 19-10-1998 से ही ऋतिक की शुक्र की दशा चल रही है। 2014 में ऋतिक का तलाक हुआ। ज्‍योतिषी के अनुसार यह वह समय था जब उनकी कुंडली में शुक्र बुध की दशा चल रही थी।

 

2008 में राहु के अंतरा से होकर गुजरे जो कि 11वें घर का प्रबल कारक है। इसका योग 10वें घर से भी हुआ। जिसकी वजह से वे एक हिट फिल्‍म दे पाए।

कल से शुरु हैं गुप्‍त नवरात्र, साधना से सिद्धि तक का सफर

लंबे समय के ब्रेक के बाद ऋतिक ‘मोहन जोदड़ो’ से वापसी कर रहे हैं। इस साल वे बुध की अंतरा से होकर गुजरेंगें। सूत्रों के अनुसार यह फिल्‍म 12 अगस्‍त 2016 को रिलीज होगी और उनकी कुंडली में यह समय होगा शुक्र, बुध और राहु का। ऋतिक के लिए राहु और बुध जीवन में सकारात्‍मकता को लेकर आएंगें। शनि के उदय लग्‍न में होने के ही कारण उनकी फिल्‍म के रिलीज होने में इतनी देरी हो रही है। ऋतिक की जन्‍म कुंडली के अनुसार शनि |

आगे पढ़िए 

जानें कैसे झाड़ू बदलती है आपका भाग्य…..

1_1459848912

हिंदू रीति-रिवाजों में घर में सुख-समृद्धि के लिए अनेक नियम बनाए जाते हैं जिनका पालन प्राचीन समय से होता आया है।यदि झाड़ू से संबंधित नियमों का पालन किया जाए तो हमारे घर में लक्ष्‍मी जी का वास होगा-:

सेहत के साथ समृद्धि भी देगी वैदिक रसोई…

– झाड़ू को पश्चिम दिशा के कमरे में रखना सबसे अच्‍छा माना जाता है। ऐसा करने से घर में नकारात्‍मक ऊर्जाओं का वास नहीं रहता।

– ध्‍यान रहे, झाड़ू को कभी भी खड़ा कर के न रखें। खड़ी झाड़ू हमेशा अपशगुन का कारण मानी जाती है। झाड़ू को जमीन पर लेटा कर रखना ही बेहतर होता है।

– टूटी हुई झाड़ू का बिलकुल भी प्रयोग न करें। टूटी हुई झाड़ू का प्रयोग करने का मतलब है घर में अनेक परेशानियों को निमंत्रण देना।

नौकरी में पदोन्नति में आई रूकावट को ऐसे करें दूर…

– पुरानी झाड़ू बदलकर नई झाड़ू को निकालने के लिए शनिवार का दिन चुनें। यह शुभ माना जाता है।

– लक्ष्‍मी स्‍वरूपी झाड़ू को कभी पैर नहीं लगाना चाहिए। यह लक्ष्‍मी का अपमान माना जाता है एवं इसके कारण घर में अनेक प्रकार की आर्थिक परेशानियां जन्‍म लेती हैं।

आगे पढ़िए 

जानिए धन प्राप्ति के अचूक उपाय….

Goddess-Laxmi

अपार धन की प्राप्ति हर मनुष्य की चाहत होती है। दरिद्रता, गरीबी या कर्ज से छुटकारा पाकर धनवान बनने के लिए यहां प्रस्तुत हैं अचूक उपाय जिन्हें आजमाकर आप भी धनवान बन सकते हैं।

– देवी महालक्षमी के आगे घी का दीपक जलाकर श्रीसूक्तन का पाठ करें एवं कनेर के फूल देवी को अर्पण करें। श्रीसूक्त के नियमित पाठ से आपको शीघ्र ही लाभ मिलेगा एवं यह शुभ फलदायी मंत्र है।

जानें कैसे करें ग्रहों को शांत…

– धन लाभ हेतु किसी विष्णु मंदिर में त्रिकोण आकार का पीला वस्त्र चढ़ाएं एवं उसे लहराते हुए लगवाएं। इस उपाय को करने से आर्थिक स्थिति में निश्चित ही लाभ होगा।

– जहां आप अपना धन रखते हैं उस स्थान पर मदार की जड़ को रखें, ऐसा करने से धन से जुड़ी सारी समस्यापएं दूर हो जाएंगीं।

बारह मुखी रूद्राक्ष से पाएं सफलता : सूर्य को मिलता बल…

– पैसों से जुड़ी समस्याओं से परेशान हैं तो शिव मंदिर में जाकर शिवलिंग की शहद और बिल्व पत्रों से पूजा करें। भगवान शिव आपकी धन संबंधी समस्याओं का हल अवश्य करेंगें।

– बृहस्पतिवार के दिन आटे की छोटी-छोटी गोलियां बनाकर मछलियों को खिलाएं। पीपल के पत्तों पर राम लिखकर जल में प्रवाहित करें।

आगे पढ़िए